Friday, November 20, 2009

राजकमल प्रकाशन की वेबसाइट और ऑनलाइन स्टोर



१२ के बाद मेरा सेलेक्सन डिजाईन इंस्टिट्यूट में हो गया में खुश था लेकिन मेरी पढ़ाई हिन्दी माध्यम से होने के कारण मुझे वहाँ के अंग्रेजी लेक्ट्चेर समझने में दिक्कत आती थी। सीरियस रीडिंग की तो बात बहुत दूर की थी।
तब मेरी टीचर ने कहा बात अंग्रेजी या हिन्दी की नही है ।
बात पढने की है तुम हिन्दी में ही अच्छी किताबें पढो। तब उन्होंने कुछ नाम सुझाए । फ़िर मैंने पढ़ना शुरू कर दिया। और मुझे राजकमल प्रकाशन की किताबें बहुत स्तरीय लगीं । और इनके पास लगभग सभी प्रसिद्द लेखको का प्रकाशित साहित्य है ।
जैसी आज की स्थिति है उसमे हिन्दी की स्तरीय किताबें आसनी से नहीं मिलती हैं । अगर मिलती भी हैं तो आप के पास चुनने की लिए ज्यादा च्वायस नहीं होती ।
मैं कुछ दिनों पहले अपने छोटे भाई ललित से बात कर रहा था उसने बताया की लखनऊ में राष्ट्रीय पुस्तक मेला लगा है। तब, उसने पूछा क्या आप को कोई किताब मंगवानी है । मैंने इन्टरनेट पर हिन्दी किताबो की लिस्ट सर्च करने के लिए कुछ शब्द गूगल में टाइप किए, तब मुझे राजकमल प्रकाशन की वेबसाइट और ऑनलाइन स्टोर का लिंक मिला। मुझे बहुत अच्छा लगा अब में अपनी पसंद की किताब सर्च करके ऑनलाइन आर्डर कर सकता हूँ ।
हम सब को ऐसी वेबसाइट को प्रमोट करना चाहिए।

राजकमल प्रकाशन की वेबसाइट और ऑनलाइन स्टोर का लिंक:
http://www.rajkamalprakashan.com/

No comments: